कोरोना वायरस लोगों को भुलक्कड़ बना रहा है। वायरस से उबरे लोगों की याददाश्त कमजोर हो रही है। वैसे तो यह समस्या हर उम्र के लोगों में देखने को मिली है लेकिन युवाओं में खास तौर पर यह समस्या देखी जा रही है। बीस से तीस फीसदी तक युवा भूलने की बीमारी की जद में है। जबकि पुराने बीमारी से जूझ रहे लोगों में यह समस्या और भी गंभीर बनी हुई है। मरीज रोजमर्रा की चीजों को भी भुलने लगे हैं। वहीं, चीजों को भूलने की समस्या बताने वाले मरीजों का डॉक्टर एमएमएस (मिनी मेंटल स्टेटस) टेस्ट करा रहे हैं जिसमें यादाश्त की कमी से पीड़ित अधिकतर मरीज फेल हो रहे हैं