कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस (Dhanteras) मनाया जाता है. दिवाली(Diwali) का पर्व धनतेरस के साथ शुरू हो जाता है. इस दिन को धनंवतरि जंयती के रूप में भी मनाया जाता है. मान्यता है कि समुद्र मंथन के दौरान भगवान धन्वंतरि (Dhanvantari) अमृत कलश के साथ प्रकट हुए थे उस दिन धनतेरस का दिन था. पौराणिक रीती- रिवाज़ों के अनुसार धनतेरस के दिन बाजार से कुछ न कुछ खरीदकर लाने की परंपरा है. विशेषकर सोने या चांदी (Gold, Silver) की चीज़ें खरीदने का बहुत ही ज्यादा महत्व है. इस दिन बहुत से लोग लक्ष्मी-गणेश जी बने हुए सोने-चांदी के सिक्के खरीदते हैं या बिस्कुट जो की बहुत ही शुभ माने जाते हैं. जिनका बजट सोने या चांदी का सामान खरीदने का नहीं होता वें लोग इस दिन ताम्बा या पीतल का बर्तन या अन्य समान खरीद सकते हैं. इस दिन धातु की चीजें खरीदना बड़ा ही शुभ माना जाता है.अतः इस दिन कोई न कोई धातु की चीज़ खरीदकर घर अवश्य लानी चाहिए. इस साल धनतेरस 2 नवंबर ( 2 November, 2021) को मनाया जाएगा. लेकिन क्या आपको पता है कि कौन सी वस्तुएं हैं जिनको आपको धनतेरस के दिन भूल के भी नहीं खरीदना चाहिए? अगर नहीं जानते तो चलिए हम आपको बताते हैं.

1 . कांच

कांच का संबंध राहु से होता है. इसलिए धनतेरस के दिन कांच का समान खरीदने से बचना चाहिए. हालाँकि कई लोग धनतेरस के दिन कछुआ खरीद के लाते हैं जो शुभ माना जाता है लेकिन आपको बता दें क्रिस्टल का कछुआ खरीदने से धनतेरस के दिन बचना चाहिए. क्यूंकि क्रिस्टल का कछुआ कांच का कछुआ होता हैं.

2. अल्मुनियम

धनतेरस के दिन अधिकतर लोग अल्मुनियम के बर्तन खरीदना पसंद करते हैं. लेकिन आपको बता दें कि यह धातु भी राहु का कारक होती है. धनतेरस के दिन ऐसी चीजें घर लाई जाती हैं जो प्राकृतिक रूप से उत्पन्न हुई हो न की मानव द्वारा निर्मित की गयी हो. इसलिए ज्योतिषों का भी मन्ना है की अल्मुनियम के बर्तन या अन्य सामान न खरीदें जाये.

3. लोहा

धनतेरस पर लोहे से बनी चीजें नहीं खरीदना चाहिए. इस दिन लोहे से बनी चीजें घर पर लाने पर राहु ग्रह की अशुभ छाया पड़ती है. जैसा की आप भी जानते है राहु की नजर पड़ते ही घर- द्वार की परेशानियां बढ़ने लगती हैं. शास्त्रों में ये भी माना गया है की लोहा शनि का कारक होता है. इसलिए भी धनतेरस जैसे शुभ अवसर पर लोहा खरीदने से बचना चाहिए.

4 . स्टील

धनतेरस पर बर्तन खरीदने की परंपरा काफी समय से चली आ रही है. स्टील भी लोहा का ही दूसरा रूप है इसलिए कहा जाता है कि स्टील के बर्तन भी धनतेरस के दिन नहीं खरीदने चाहिए. ऐसा माना जाता है की धनतेरस के दिन स्टील की जगह ताम्बा या फिर पीतल का समान खरीदना चाहिए.