पटना | बिहार के कई जिलों में गुरुवार को मेघ गर्जन के साथ भारी बारिश के आसार हैं। मौसम विज्ञानी की मानें तो प्रदेश में कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, झारखंड से शिफ्ट होकर बिहार के ऊपरी हिस्सों पर बना हुआ है। इसके साथ ही चक्रवाती हवाएं उत्तर प्रदेश से होते हुए बिहार तक बह रही हैं। इन सभी मौसमी कारकों के प्रभाव से अगले 24 घंटों के दौरान सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, मधेपुरा, पूर्णिया, कटिहार आदि जगहों पर भारी बारिश एवं अन्य जगहों पर मेघ-गर्जन के साथ हल्की बारिश के आसार हैं। 

10 दिनों पहले हो चुकी है मानसून की विदाई 

पटना इसके आसपास के इलाकों में बुधवार सुबह बादल छाए रहे बूंदाबांदी हुई। वहीं दोपहर बाद धूप निकलने से मौसम सुहावना हो गया। प्रदेश के अनेक हिस्सों में मेघ गर्जन आकाशीय बिजली चमकने के साथ ही भारी बारिश दर्ज की गई। प्रदेश में मानसून की विदाई 10 दिन पहले हो चुकी है लेकिन बारिश का सिस्टम अभी भी राज्य में बना हुआ है। 

22 अक्टूबर के बाद प्रदेश का मौसम सामान्य रहने का पूर्वानुमान है। वहीं गुरुवार को दक्षिण-मध्य बिहार के पटना, गया, नवादा आदि जगहों पर आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे बूंदाबांदी के आसार हैं। बीते 24 घंटों के दौरान फारबिसगंज का अधिकतम तापमान 34.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पटना का अधिकतम तापमान 31 डिग्री, गया का 30.2 डिग्री एवं भागलपुर का 25.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।