कैबिनेट मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुक्रवार को सिविल एविएशन मिनिस्ट्री (नागर विमानन मंत्रालय) का पदभार संभाल लिया है। इस पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें बधाई दी। साथ में तंज भी कसा। कमलनाथ ने मोदी कैबिनेट में जगह मिलने पर कहा- यह बीजेपी और सिंधिया के बीच का मामला है। देखते हैं, अब ये गाड़ी आगे कैसे चलती है?

कमलनाथ ने देश महंगाई और पेट्रोलियम पदार्थों में वृद्धि के सवाल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा-महंगाई की कोई सीमा नहीं है। मोदी जी लंबे-लंबे भाषण देते थे। 2013-2014 के भाषण घोषणाएं, स्लोगन दिए थे स्टैंडअप इंडिया, डिजिटल इंडिया यह कहां है?उन्होंने दाढ़ी बढ़ा ली है तो अच्छे लग रहे हैं।

कमलनाथ ने शुक्रवार को मध्य प्रदेश के नव नियुक्त राज्यपाल मंगू भाई पटेल से मुलाकात कर सरकार की शिकायत की। राजभवन से बाहर आने के बाद उन्होंने मीडिया से कहा कि राज्यपाल से मुलाकात के दौरान SC-ST वर्ग के साथ हो रही घटनाओं का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि SC-ST वर्ग के लोग मध्य प्रदेश में सुरक्षित नहीं हैं. इतनी घटनाएं हुई हैं, जितनी देश के इतिहास में नहीं हुईं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे आदिवासी इलाकों में काम करने का अनुभव है। मैंने राज्यपाल को अवगत कराया है कि प्रदेश में इतनी बड़ी संख्या में अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग के लोग हैं, जितने देश में कहीं नहीं हैं। यहां पर वे सुरक्षित नहीं है। मैंने राज्यपाल को अवगत कराया कि प्रदेश का हर वर्ग परेशान है। किसान, छोटा व्यापारी परेशान है, नौजवान बेरोजगार है, बेरोजगारी घट नहीं बल्कि बढ़ रही है, हमारी अर्थव्यवस्था चौपट है।

ओबीसी आरक्षण पर नीति लागू करे सरकार

कमलनाथ ने कहा कि ओबीसी आरक्षण को लेकर को लेकर कांग्रेस सरकार ने नीति बनाई थी, उसे सरकार लागू करे। नेमावर सहित अन्य बड़ी घटनाओं से राज्यपाल को अवगत कराया है। उप चुनाव की तैयार को लेकर उन्होंने कहा कि मैं 11 दिन अस्पताल में था. मुझे निमोनिया हो गया था। अब पूरी तरह से स्वस्थ हूं। अब मैं पूरे स्टेट का दौरा करूंगा। उप चुनाव में उम्मीदवारों का चयन करने के लिए कार्यकर्ताओं से बात की जा रही है।

दिल्ली के राजीव भवन में तोमर ने दी सिंधिया को दी शुभकामनाएं

 

सिंधिया पदभार ग्रहण करने के बाद तोमर से मिले
सिविल एविएशन मिनिस्ट्री का पदभार ग्रहण करने के बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिले। दरअसल, दोनों ग्वालियर-चंबल के बड़े नेता है। कैबिनेट मंत्री बनने के बाद इलाके में सिंधिया का कद बढ़ेगा। हालांकि सिंधिया पिछले एक माह से प्रदेश के दौरे पर तीन बार आ चुके हैंं। इस दौरान वे भोपाल में पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की।