इन्दौर । भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आज विधानसभा का उप निर्वाचन कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। उप-निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील हो गयी है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी मनीष सिंह ने सभी संबंधितो से आदर्श आचरण संहिता के प्रावधानों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि सम्पत्ति विरूपण अधिनियम का भी सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाये। उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।
कलेक्टर एवं जिला निर्चाचन अधिकारी मनीष सिंह ने आज यहां कलेक्टर कार्यालय में राजनीतिक दलों की स्टेंण्डिग कमेटी की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। बैठक में डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी हिमांशु चन्द्र, अपर कलेक्टर अभय बेड़ेकर तथा अजय देव शर्मा सहित अन्य अधिकारी और राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि मौजूद थे।
बैठक में कलेक्टर मनीष सिंह ने आदर्श आचरण संहिता, सम्पत्ति विरूपण अधिनियम, कोलाहल नियंत्रण अधिनियम, लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, पेड न्यूज सहित अन्य प्रावधानों की जानकारी देते हुये कहा कि इनका हर हाल में पालन किया जाये। निष्पक्ष, निर्भिक, पारदर्शी तथा शांतिपूर्ण निर्वाचन हमारी प्राथमिकता है। इसमें सभी का सहयोग अपेक्षित है। उन्होंने निर्वाचन कार्यक्रम की जानकारी देते हुये कहा कि आज से ही आदर्श आचरण संहिता लागू हो गयी है। सभी आदर्श आचरण संहिता का पालन करें। उन्होंने बताया कि सम्पत्ति विरूपण अधिनियम का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराया जायेगा। अवैध रूप से लगे होर्डिंग, बैनर, फ्लेक्स आदि को हटाने के लिये दल बनाये गये हैं। इसके साथ ही वीडियो टीम भी बनाकर निगरानी रखी जा रही है। कन्ट्रोल रूम भी बनाया गया है।
मनीष सिंह ने बैठक में जिले में कोविड-19 को देखते हुये निर्वाचन की व्यवस्था की जा रही है। सभा में अधिकतम 100 व्यक्ति रह सकते है। रैली में 5 वाहन से अधिक नहीं रह सकेंगे। इसका उल्लंघन पाये जाने पर एफआईआर दर्ज की जायेगी।  इसी तरह सम्पत्ति विरूपण अधिनियम का सख्ती से पालन कराया जायेगा। शासकीय सम्पत्तियों से 24 घण्टे में, सार्वजनिक सम्पत्तियों से 48 घण्टे में तथा निजी सम्पत्तियों से प्रचार-प्रसार सामग्री हटाने के लिये दल बनाये गये है। उन्होंने बताया कि निगरानी की पुख्ता व्यवस्था की जा रही है। हर गतिविधि पर निगरानी रहेगी, वीडियो रिकार्डिंग करायी जायेगी। 18 से 29 वर्ष आयु तक के मतदाताओं के नाम अधिक से अधिक जोड़ने के लिये स्वीप अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि आयोजनों की अनुमति सांवेर के रिटर्निंग अधिकारी द्वारा दी जायेगी। नामांकन पत्र सांवेर में जमा होंगे।