रायपुर की सड़कों पर मंगलवार की दोपहर कांग्रेस पार्टी के विरोध प्रदर्शन का नजारा देखने को मिला। तय कार्यक्रम के मुताबिक कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम की मौजूदगी में पैदल मार्च निकाला गया। गौरवपथ से होते हुए कांग्रेस के नेता राजभवन की ओर बढ़े। यह विरोध प्रदर्शन नए कृषि बिल के विरोध में था। प्रदर्शन में भीड़ की वजह से सोशल फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन होता नहीं दिखा। पुलिस की सुरक्षा के बीच नेता राजभवन के बेहद करीब पहुंच गए। यहीं सड़क पर बैठकर कुछ देर तक सभी नारेबाजी की।

राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन

कांग्रेस राज्यपाल अनुसुइया उइके को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम ज्ञापन सौंप रही है। इस ज्ञापन में केंद्र सरकार के नए कृषि बिल को काला कानून बताया गया है। ज्ञापन में राष्ट्रपति से इस कानून को निरस्त करने की मांग की गई है। इसमें लिखा गया है कि संसदीय कार्यप्रणाली पर यह कानून हमला है, चंद कारोबारियों के लिए आपदा में अवसर पैदा करने के लिए यह कानून लाया गया है, जिसे देश के किसान नहीं भूलेंगे।