शिवपुरी. मध्य प्रदेश में विधानसभा (Assembly) की 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव (By-Election) के लिए प्रचार-प्रसार का दौर जारी है. इसके तहत नेता एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप भी खुलकर लगा रहे हैं. चुनाव प्रचार के लिए बीते सोमवार को बीजेपी (BJP) सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) शिवपुरी जिले के पोहरी विधानसभा क्षेत्र में पहुंचे. यहां सिंधिया ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व पूर्व सीएम कमलनाथ और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर जमकर निशाना साधा. सिंधिया ने इशारों में पूर्व की कांग्रेस सरकार पर भ्रष्टाचार व जनविरोधी काम करने का आरोप भी लगाया. सिंधिया ने साल 2018 के विधानसभा चुनाव में जीत के 15 महीने बाद ही कांग्रेस सरकार गिर जाने का भी कारण बताया.

चुनावी सभा में सिंधिया ने पूर्व की कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि 'बल्लभ भवन दलाली का अड्डा बन गया था. मैंने विरोध किया तो बोले सड़क पर उतर जाओ, मैं उतर गया. मैं उस परिवार का खून हूं, जिसकी दादी ने कांग्रेस की सरकार जन विरोधी नीति के चलते गिरा दी थी'. ज्योतिरादित्य सिंधिया पोहरी विधानसभा के छर्च में भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में सभा को संबोधित कर रहे थे.
जनसभा का आयोजन

शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा के ग्राम छर्च में भाजपा प्रत्याशी सुरेश राठखेड़ा के समर्थन में आम सभा को संबोधित करते हुए राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस नेता कमलनाथ व दिग्विजय सिंह पर जमकर निशाना साधा और कहा कि 15 माह में बल्लभ भवन दलाली का अड्डा बन गया था. क्षेत्र की जनता को छोड़ बस पैसे कमाने में लगे थे. जब मैंने किसानों, बेरोजगारों की आवाज उठाई तो बोले सड़क पर उतारा जाओ तो मैं सड़क पर उतर गया. लेकिन, कांग्रेस यहां भूल गई कि मुझ में उस सिंधिया परिवार का खून है, जिसकी दादी ने डीपी मिश्रा सरकार को जन विरोधी नीति के चलते गिरा दिया था. सिंधिया परिवार का सड़क पर उतरने का मतलब पूरे ग्वालियर का सड़क पर उतरना होता है.