नई दिल्ली, भारत और अमेरिका के बीच ऐतिहासिक Basic Exchange and Cooperation Agreement (BECA) समझौते पर हस्ताक्षर हो गए हैं. मंगलवार को दोनों देशों के बीच 2+2 वार्ता हुई, जिसमें दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्री मिले. बैठक के बाद दोनों देशों की ओर से साझा बयान जारी किया गया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने बयान में कहा कि भारत और अमेरिका की दोस्ती लगातार मजबूत हुई है, 2+2 बैठक में भी दोनों देशों ने कई मसलों पर मंथन किया. जिसमें कोरोना संकट के बाद की स्थिति, दुनिया की मौजूदा स्थिति, सुरक्षा के मसलों पर कई अहम मुद्दों पर विस्तार से बात की गई. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के मुताबिक, दोनों देशों ने परमाणु सहयोग बढ़ाने को लेकर कदम बढ़ाए हैं, साथ ही भारतीय उपमहाद्वीप में सुरक्षा की स्थिति को लेकर विस्तार से बात की है.

इन पांच समझौतों पर किए गए हस्ताक्षर: 
1.  Basic Exchange and Cooperation Agreement (BECA) 
2. MoU for technical cooperation on earth sciences
3. Arrangement extending the arrangement on nuclear cooperation 
4. Agreement on postal services
5. Agreement on cooperation in Ayurveda and Cancer research


अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में भारत और अमेरिका की दोस्ती ना सिर्फ एशिया बल्कि दुनिया के लिए काफी अहम है. अमेरिकी रक्षा मंत्री बोले कि चीन की ओर से दुनिया के लिए खतरा बढ़ता जा रहा है, ऐसे में बड़े देशों को साथ आना होगा. मार्क एस्पर के मुताबिक, भारत-जापान और अमेरिका साथ में कई सैन्य ऑपरेशंस करेंगे, मालाबार एक्ससाइज़ भी की जाएगी. इसके अलावा दोनों देश डिफेंस इन्फॉर्मेशन शेयरिंग में नए मुकाम पर आगे बढ़ रहे हैं. 2+2 बैठक के बाद अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. भारत और अमेरिका के बीच 2+2 वार्ता काफी अहम है, जहां दोनों देशों के रक्षा और विदेश मंत्रियों ने आपस में कई विषयों पर मंथन किया. दोनों देशों के बीच BECA पर सहमति बनी है. जिसके बाद दोनों देश आपस में मिलिट्री जानकारियां साझा कर पाएंगे, सैटेलाइट और अन्य अहम इनपुट्स बिना किसी रोक-टोक के दोनों देश एक दूसरे को दे पाएंगे.
बातचीत शुरू होने से पहले अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने दिल्ली स्थिति वॉर मेमोरियल पहुंच शहीदों को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान उनके साथ अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर भी मौजूद रहे.सोमवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने अपने-अपने समकक्षों से द्विपक्षीय वार्ता की थी, साथ ही अमेरिकी मेहमानों के लिए खास डिनर का आयोजन किया गया था. अब मंगलवार को 2+2 वार्ता के बाद अमेरिकी विदेश और रक्षा मंत्री दोपहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे.